True hindi story of mahatma gandhi

Hi Dosto आपलोग अच्छी तरह जानते होंगे Mahatma Gandhi कौन थे? आज हम Mahatma Gandhi जी के Life मे हुई एक True Story के बारे मे अपना Article Share कर रहा हूं शायद आप नही जानते होगे तो Dosto Start करते है जरूर पढिये क्या आप ये True Story Of Mahatma Gandhi जी कि Life मे हूई क्या आप जानते है? एक बार कि बात है जैसा कि आपलोग जानते है Mahatma Gandhi हमेंशा अंग्रेजो के खिलाफ अनशन करते रहते थे एक बार फिर Mahatma Gandhi जी को एक अनशन के लिए दूर दूसरे City मे जल्द जाना था, आपलोग जानते होंगे Mahatma Gandhi जी एक गांव से दूसरे गांव मतलब दूर दूर तक पैदल चलकर ही जाया करते थे परंन्तू अबकी बार एक शहर से दूसरे शहर मे जल्द पहुंचना था इसलिए उन्होंने Train रेलगाड़ी से जाने का मन बना लिए और Railway Station आ गए कुछ देर Wait करने के बाद Station पर Train आ गई Train मे बहुत भीर थी फिर भी Mahatma Gandhi ने बिना Time गवाए Train  पर चढ गए Train मे अत्यधिक भीर होने के वजह से Gandhi जी Train रेलगाड़ी के दरवाजे के पास ही खड़े हो गए कुछ ही मिनट मे Train Station से अब खुल चुकी थी..! Train अपनी महाँत्मा गांधी कि सच्ची कहानी

True hindi story of mahatma gandhi
True Hindi Story Of Mahatma Gandhi


Speed से चलते जा रही थी अचानक Mahatma Gandhi जी कि संतुलन बिगर गया और उनका एक पैर का चप्पल पैर से निकलकर Train के नीचे गिर गया Mahatma Gandhi जी ने बिना Time गवाए अपनी दूसरी पैर का चप्पल भी Train के नीचे फेंक दिए, दोस्तो आपलोग शायद जानते होंगे Mahatma Gandhi सदैव लकड़ी से बना काठ का चप्पल ही पहनते थे,, अब Story कि बात करते है जब Mahatma Gandhi जी कि एक चप्पल तो गलती से पैर से निकलकर गीर गया दूसरी चप्पल उन्होंने जान बूझकर फेक दिए थे, ऐसा करते Mahatma Gandhi जी को बगल मे खड़े एक व्यक्ति ने सब कुछ देख लिया था  वो व्यक्ति ने Mahatma Gandhi जी से पुछा- महाशय आपकी एक पैर का चप्पल गलती से पैर से निकलकर चलती Train से नीचे गीर गया  लेकिन(But) दूसरी चप्पल जान बूझकर क्यो फेंक दिए? Mahatma Gandhi ने उस व्यक्ति को मुस्कुराते हुवे जवाब दिए मेरा एक चप्पल गीर गया था दूसरा चप्पल मै Use नही कर पाता इसलिए एक चप्पल गीरने के बाद मैने दूसरी चप्पल तुरंत फेक दिया, अगर अब किसी भी Poor (गरीब) को आसानी से दोनो चप्पल आसपास मौजूद मील जाएगी और दोनो चप्पल का Use कर पाएगा, यदी मै एक चप्पल गीरने के बाद दूसरी चप्पल जल्दी(Just) नही फेंकता तो एक स्थान पर एक ही चप्पल मौजूद(Present) मिलती दूसरी चप्पल मिलती ही नही अब एक ही स्थान पर दोनो चप्पल आसपास ही मौजूद किसी गरीब Poor को मील जाएगी और दोनो चप्पल आराम से Use भी कर पाएगा । Mahatma Gandhi जी ने उस व्यक्ति कि Question का Answer देते हुवे लम्बी सांस ली और फिर मुस्कुराने लगे..!!!!! दोस्तो कैसी लगी Mahatma Gandhi जी कि Real True Story? क्या आज के Time मे कोई ऐसा सोचता है Comment जरूर करे यदी आप और भी नई-नई Story पढना चाहते है तो Primary Gyan Website को Subscribe जरूर कर ले ताकी आपको मिलती रहे Primary Gyan का सभी ज्ञान Article के रूप मे हर रोज,,,,,,,धन्यवाद...!!!!
                        
                           जय हिंद जय भारत 
                           ----------------------

Oldest

1 comments:

Click here for comments
Anonymous
admin
8 September 2018 at 06:56 ×

Hello

Congrats bro Anonymous you got PERTAMAX...! hehehehe...
Reply
avatar