Saving Aur Current Account Kya Hota Hai

बैंक मे खाता खुलवाने से पहले बहुत ही जरूरी होता है जानना Saving Aur Current Account Kya Hota Hai और इनमे क्या अंतर है क्योंकि जब आप बैंक मे अपना खाता खुलवाने जाएगे तो आपको बैंक द्वारा एक फार्म दिया जाता है उस फार्म पर नाम, एड्रेस, उम्र, लिंग कि जानकारी भरनी होती है उस फार्म पर ये भी Option होता है कि आप Saving Account खुलवाना चाहते है या Current Account खुलवाना चाहते है? बहुत लोग इस स्थिति मे सोचने लगते है तथा बैंक के स्टाफ से पूछने लगते है मगर सही से पूरी जानकारी नही मिल पाता है। बहुत लोग ऐसे भी है जो अपना अकाउंट बैंक मे खुलवा चुके होते है फिर भी उन्हे अच्छे से समझ नही है मेरा कौन सा अकाउंट है और इस अकाउंट के फायदे और नुकसान क्या है? दोस्तो इस आर्टिकल मे आपको Saving Account और Current Account क्या होता है और इनमे क्या अंतर होता है कि जानकारी मिलेगी पूरी आर्टिकल जरूर पढे और आप भी जानिये Saving Aur Current Account Kya Hota Hai?

Saving Aur Current Account Kya Hota Hai
Saving Aur Current Account Kya Hota Hai



यहां पढे Saving Aur Current Account Kya Hota Hai और इनमे क्या अंतर है?

Saving Account (बचत खाता) का क्या होता है?

Saving Account को बचत खाता भी कहते है भारत मे 90% लोग Saving Account ही खुलवाते है, सेविंग अकाउंट वालो को अकाउंट मे रखे गये रूपए के अनुसार बैंक द्वारा सालाना क्रमश: 4% से 5% ब्याज दिया जाता है, किसी भी साधारण व्यक्ति को किसी भी बैंक मे सेविंग अकाउंट खुलवाने से पहले जानकारी प्राप्त कर लेना चाहिए कि सेविंग अकाउंट मे रखे गये धन पर ब्याज दर कितना मिलता है क्योंकि सभी बैंक कि ब्याज दर भिन्न-भिन्न होती है! सेविंग अकाउंट खुलवाने वालो को बहुत आसानी से चेकबुक, एटीएम, डेबिट कार्ड, नेटबैंकिग, मोबाइल बैंकिंग कि सुविधा मिलती है इनमे ज्यादातर सर्विस फ्रि होती है आसानी से एटीएम मशीन से एटीएम या डेबिट कार्ड के द्वारा पैसे निकालने तथा नेटबैंकिग और मोबाइल बैंकिंग से आनलाईन खरीदारी, आनलाईन लेनदेन काम को किया जा सकता है, मगर एक बात ध्यान रखने योग्य है एक दिन मे क्रमश पांच बार से ज्यादा रूपय कि निकासी पर बैंक को पैसे निकासी के आधार पर कुछ चार्ज देना परता है, यदि निकासी पांच बार तक ही सीमित रहता है तब बैंक को कुछ भी चार्ज नही देना परता है!

Current Account (चालू खाता) क्या होता है?

Current Account को चालू खाता भी कहते है, सेविंग अकाउंट आम लोगो के लिए होती है वही दूसरी तरफ Current Account खासतौर पर बिजनेसमैन बड़े बड़े कारोबारीयो के लिए होती है क्योंकि सेविंग अकाउंट कि तरह ट्रांजैक्शन करने कि लिमिट नही होती Current Account मे एक दिन मे अनेको बार ट्रांजैक्शन किया जा सकता है मगर करंट अकाउंट मे जमा राशी पर सेविंग अकाउंट कि तरह ब्याज नही मिलता है लेकिन करंट अकाउंट कि एक खासियत है अकाउंट मे जमा राशी से भी ज्यादा पैसे निकाल सकते है करंट अकाउंट वालो को उसके टर्नओवर और मुनाफे जैसी बातो को ध्यान मे रखकर बैंक द्वारा ओभरड्राफ्ट जैसी सुविधा देती है, करंट अकाउंट निजी रूप मे या ज्वाइंट रूप मे भी खुलवाया जाता है ज्यादातर करंट अकाउंट उपयोग कंपनियो, ट्रस्टो, स्वयंसेवी संस्था, बिजनेसमैनो इत्यादियो के द्वारा किया जाता है, करंट अकाउंट मे बैंक द्वारा मिलने वाली सुविधाओ मे एनइएफटी से फंड ट्रांसफर, डोर स्टेप बैकिंग, डिमांड ड्राफ्ट या पे आर्डर जारी करना, मुफ्त कैश डिपोजिट, चेक कलेक्शन और पेमेंट भी शामिल है!

दोस्तो यदि आप हमारे ब्लॉग पर पहली बार आये है तो सब्सक्राइब जरूर करे तथा फ्री मे ब्लागिंग और इंटरनेट से संबंधित नई नई जानकारीया पाते रहे धन्यवाद!!!!
Previous
Next Post »